Top
Home > राज्यवार > एक ढाबे पर लावारिस हालत में मिली मुख़्तार अंसारी को कोर्ट पहुंचने वाली एम्बुलेंस

एक ढाबे पर लावारिस हालत में मिली मुख़्तार अंसारी को कोर्ट पहुंचने वाली एम्बुलेंस

जिस एंबुलेंस से मुख्तार अंसारी मोहाली कोर्ट पहुंचा था, वह एंबुलेंस लावारिस हालत में मिली है। इस तरह से अचानक से एक हाईवे पर एंबुलेंस का मिलना बड़े सवाल खड़े कर रहा है।

एक ढाबे पर लावारिस हालत में मिली मुख़्तार अंसारी को कोर्ट पहुंचने वाली एम्बुलेंस
X

एजेंसी

चंडीगढ़: मुख्तार अंसारी को पंजाब से यूपी लाने की कवायद के बीच एंबुलेंस मामले में बड़ी खबर सामने आ रही है। जिस एंबुलेंस से मुख्तार अंसारी मोहाली कोर्ट पहुंचा था, वह एंबुलेंस लवारिस हालत में मिली है. एक अज्ञात व्यक्ति चंडीगढ़ ऊना हाईवे पर लावारिस हालत में एक ढाबे के पास खड़ी करके चला गया है। इस तरह से अचानक से एक हाईवे पर एंबुलेंस का मिलना बड़े सवाल खड़े कर रहा है।

31 मार्च को इस एंबुलेंस से कोर्ट पहुंचा था मुख्तार

पंजाब की रोपड़ जेल में बंद मऊ BSP विधायक मुख्तार अंसारी 31 मार्च को मोहाली की कोर्ट में पेश हुआ था। इस दौरान जिस यूपी नंबर की एंबुलेंस से मुख्तार मोहाली कोर्ट गया था, वो एंबुलेंस एक निजी एंबुलेंस थी, जिसका रजिस्ट्रेशन बाराबंकी में एक निजी अस्पताल के नाम से था। साथ ही एंबुलेंस की आरसी पर डाक्टर अल्का राय का नाम भी लिखा था। यह जानकारी पूरे प्रदेश में आग की तरह फैली और हड़कंप मच गया। इसके बाद जांच के लिए योगी सरकार ने एक स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम का गठन भी किया था। शनिवार देर रात एक टीम पंजाब के लिए रवाना हो गई थी। वहीं दूसरी टीम डॉ. अलका राय से पूछताछ के लिए मऊ पहुंच गई।

डॉ. अलका से 2 घंटे तक की पूछताछ

मुख्तार अंसारी एंबुलेंस मामले में स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम मऊ पहुंचने के बाद टीम बलिया मोढ स्थित श्याम संजीवनी अस्पताल पहुंची। इस मामले में डॉ.अलका से पुलिस ने करीब दो घंटे तक पूछताछ किया। इसके बाद जब बाराबंकी पुलिस के इंस्पेक्टर मारकंडेय सिंह बाहर निकले तो उनसे मीडिया ने बात करने की कोशिश की तो पहले उन्होंने मना कर दिया लेकिन मीडियाकर्मियों के लगातार सवालों के बाद सिर्फ इतना ही बोल पाए कि अभी मामले की जांच चल रही है। जांच के बाद जो बातें सामने आएंगी उनको बताया जाएगा। पूछताछ के बाद बाराबंकी पुलिस वापस बाराबंकी के लिए रवाना हो गई।

जांच के बाद डॉ.अलका ने पत्रकारों को बताया कि यह मेरे विरोधियों की साजिश है। मुझे फंसाया जा रहा है। उन्होंने आगे बताया कि बाराबंकी पुलिस ने मुझसे बहुत सारे सवाल किये। जिसमें प्रमुख सवाल वोटर आईडी कार्ड को लेकर था क्योंकि वोटर आई कार्ड पर मेरे फोटो लगे हुए थे लेकिन उस पर मेरा दस्तखत नहीं था इसी तरीके के और कई सवाल थे , जिसको बाराबंकी पुलिस ने रिकॉर्डिंग किया है।

Updated : 5 April 2021 5:54 AM GMT
Tags:    

Shivani

Magazine | Portal | Channel


Next Story
Share it
Top