Top
Home > राज्यवार > बड़ा हादसा : MP के विदिशा में डूबते बच्चे को बचाने गए करीब दो दर्ज़न लोग गिरे कुएं में, जानें क्या हुआ था...

बड़ा हादसा : MP के विदिशा में डूबते बच्चे को बचाने गए करीब दो दर्ज़न लोग गिरे कुएं में, जानें क्या हुआ था...

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से 120 किलोमीटर दूर विदिशा जिले के गंजबासौदा में गुरुवार रात को बड़ा हादसा हो गया।

बड़ा हादसा : MP के विदिशा में डूबते बच्चे को बचाने गए करीब दो दर्ज़न लोग गिरे कुएं में, जानें क्या हुआ था...
X

उदय सर्वोदय

भोपाल : मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से 120 किलोमीटर दूर विदिशा जिले के गंजबासौदा में गुरुवार रात को बड़ा हादसा हो गया।

जिले के गंजबासौदा में गुरूवार रात को कुएं में फिसलकर गिरी एक बच्ची को बचाने के लिए इसकी मेड़ पर खड़े कई लोग अचानक मिट्टी धंसने से कुएं में गिर गये और मलबे में दब गये। यहां अब तक चार की मौत हो गई। इनमें से 19 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है और बचाव कार्य मध्यरात्रि के बाद भी जारी है। घटना की उच्चस्तरीय जांच कराने के निर्देश दिए गये हैं। हालांकि, अब तक यह पता नहीं चल पाया है कि कुल कितने लोग इस मलबे में दबे हैं। यह कुआं करीब 50 फुट गहरा है और इसमें करीब 20 फुट तक पानी बताया गया है।

घटना में घायल हुए एक व्यक्ति ने बताया है कि हादसे की शुरुआत एक बच्चे के कुएं में डूबने से हुई। बच्चे के छोटे भाई ने शोर मचाया तो आसपास के लोग वहां जमा हो गए। कुआं गहरा होने के चलते बच्चे के बचने की संभावना कम थी। फिर भी मोहल्ले का एक अच्छा तैराक युवक कुएं में उतरा, लेकिन वो पानी में ज्यादा अंदर तक नहीं जा पाया और बच्चे को नहीं ढूंढ पाया।

इसके बाद वहां मौजूद लोगों ने कुएं में जाल डालने का फैसला किया। वे जाल को पानी में अंदर तक डालकर डूबे हुए बच्चे को ऊपर लाने की कोशिश कर रहे थे। तब तक आसपास के इलाकों में बच्चे के डूबने की खबर फैल चुकी थी और 50-60 लोगों की भीड़ कुएं के पास जमा हो गई थी। सभी कुएं की मेड़ के सहारे नीचे देख रहे थे। कुएं की मेड़ इतना वजन सह नहीं पाई और भरभरा कर ढह गई। इसके साथ ही 20 से अधिक लोग कुएं में चले गए।

घायल युवक ने बताया कि कुएं की मेड़ पहले से ही क्षतिग्रस्त थी और उसने इसकी जानकारी सरपंच को भी दी थी। युवक ने कहा कि समय रहते मेड़ की मरम्मत कराई गई होती तो शायद ये हादसा टल सकता था।

संयोग से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी गुरुवार को विदिशा में ही थे। उनकी तीन दत्तक पुत्रियों का विवाह विदिशा के गणेश मंदिर में गुरुवार को हुआ। घटना की जानकारी मिलते ही मुख्यमंत्री ने वहीं से अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए। उन्होंने दिल्ली जाने का अपना कार्यक्रम भी रद्द कर दिया और विवाह स्थल पर ही कंट्रोल रूम बनाकर बचाव कार्यों की लगातार मॉनिटरिंग कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों और घायलों को आर्थिक सहायता देने का भी ऐलान किया है।

Updated : 2021-07-16T10:28:12+05:30
Tags:    

Shivani

Magazine | Portal | Channel


Next Story
Share it
Top