Top
Home > राज्यवार > महाराष्ट्र से बड़ी खबर : लॉकडाउन नहीं, पर रहेंगे वैसे ही प्रतिबन्ध

महाराष्ट्र से बड़ी खबर : लॉकडाउन नहीं, पर रहेंगे वैसे ही प्रतिबन्ध

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने लॉकडाउन की आशंका से इनकार किया लेकिन लॉकडाउन जैसे ही सख्त प्रतिबंध लागू करने की बात कही है।

महाराष्ट्र से बड़ी खबर : लॉकडाउन नहीं, पर रहेंगे वैसे ही प्रतिबन्ध
X

उदय सर्वोदय

मुंबई : महाराष्ट्र में कोरोना वायरस महामारी की वजह जिस तरह के हालात बन रहे थे, पिछले कुछ दिनों से राज्य में लॉक डाउन की सुगबुगाहट थी, मंगलवार शाम ८.३० बजे मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इसे लेकर राज्य को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने राज्य में संसाधनों की कमी का हवाला देते हए केंद्र सरकार से मदद मांगी है बता दें कि महाराष्ट्र में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 60,212 नए मामले सामने आए। इस दौरान उन्होंने फिलहाल लॉकडाउन की आशंका से इनकार किया लेकिन लॉक डाउन जैसे ही सख्त प्रतिबंध लागू करने की बात कही है।

कोरोना वायरस की पहली लहर के दौरान इससे सबसे ज्यादा प्रभावित रहा राज्य महाराष्ट्र दूसरी लहर में भी इसके प्रकोप का सबसे ज्यादा सामना कर रहा है। राज्य में रिकॉर्ड संख्या में दैनिक मामले सामने आ रहे हैं। राज्य में बिगड़ती स्थिति को देखते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य की जनता को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि टीकाकरण के माध्यम कोरोना वायरस संक्रमण को काबू में किया जा सकता है।

माना जा रहा था कि मुख्यमंत्री ठाकरे इस दौरान लॉकडाउन का एलान कर सकते हैं, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। ठाकरे ने कहा कि सरकार अभी राज्य में लॉकडाउन लागू करने के पक्ष में नहीं है। हालांकि, उन्होंने कहा कि बुधवार से प्रदेश में नई पाबंदियां लागू की जाएंगी। मुख्यमंत्री ने जनता से मास्क पहनने और शारीरिक दूरी के नियम के साथ कोविड महामारी से बचाव के लिए जारी किए गए सभी नियमों का ईमानदारी से पालन करने की अपील की। नए प्रतिबंध 15 दिन तक लागू रहेंगे। ये सारे प्रतिबन्ध बुधवार रात ८ बजे से लागू हो जाएंगे।

कल से पूरे प्रदेश में धारा 144 लागू हो जाएगी। हालांकि, उन्होंने कहा कि मैं इन प्रतिबंधों को लॉडाउन का नाम नहीं दूंगा। उन्होंने कहा कि लोकल ट्रेन और बस सेवा केवल आवश्यक सेवाओं के लिए चलेगी। पेट्रोल पंप, सेबी से संबंधित वित्तीय संस्थान और निर्माण कार्य चालू रहेंगे। होटल और रेस्तरां बंद रहेंगे लेकिन उन्हें होम डिलीवरी करने की अनुमति होगी।

उद्धव ठाकरे सरकार ने इसे 'ब्रेक द चेन' मुहिम का नाम दिया है।

कुछ और चीज़ों पर भी रियायत रहेगी वो हैं -

* प्रदेश में मीडियाकर्मियों को आने-जाने की अनुमति रहेगी

* राशन कार्ड धारकों को तीन महीने तक मुफ्त राशन दिया जाएगा

* लोकल ट्रेन और बस सेवा केवल आवश्यक सेवाओं के लिए होगी

* बैंकिंग और ई-कॉमर्स सेवाएं जारी रहेंगी तथा पेट्रोल पंप खुले रहेंगे

* आर्थिक मदद के लिए साढ़े पांच हजार करोड़ रुपये का पैकेज दिया जाएगा

* 12 लाख मजदूरों को 1500 रुपये की आर्थित सहायता दी जाएगी

* राज्य के रिक्शा चालकों को 1500 रुपये नकद सहायता मिलेगी

* आदिवासियों को 2000 रुपये की आर्थिक मदद देने का फैसला लिया गया

* प्रदेश के पंजीकृत फेरीवालों को भी आर्थित मदद देगी सरकार

* शिव भोजन थाली के लिए कोई भी शुल्क नहीं लिया जाएगा

ठाकरे ने कहा कि राज्य में आज कोरोना संक्रमण के 60,212 नए मामले सामने आए हैं। उन्होंने कहा कि हम अपने स्वास्थ्य सेवाओं के बुनियादी ढांचे को लगातार बेहतर कर रहे हैं लेकिन इस समय इस पर काफी दबाव है। राज्य में मेडिकल ऑक्सीजन, बेड की कमी है इसके साथ ही रेमडेसिविर की मांग में भी तेजी आई है। ठाकरे ने स्थिति से निपटने के लिए केंद्र सरकार से मदद मांगने के साथ सेवानिवृत्त हो चुके चिकित्सकों और स्वास्थ्यकर्मियों से भी मदद करने की अपील की।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 14 अप्रैल से राज्य में कोरोना को लेकर नई गाइडलाइंस जारी हो सकती हैं। राज्य में 14 या 15 से 30 अप्रैल तक के लिए पाबंदियां लागू की जा सकती हैं। इस दौरान जिम, पार्क और स्विमिंग पूल्स आदि को बंद किया जा सकता है। इसके अलावा वाहनों के मूवमेंट पर भी रोक लगाई जा सकती है। हालांकि जरूरी सेवाओं और जरूरी सामान की आपूर्ति को बाधित नहीं किया जाएगा। इससे पहले राज्य सरकार के कई मंत्री लॉकडाउन की आशंका जता चुके हैं।


Updated : 13 April 2021 4:01 PM GMT
Tags:    

Shivani

Magazine | Portal | Channel


Next Story
Share it
Top