Top
Home > राज्यवार > कठिन फैसला लेने वाले हालात, महाराष्ट्र में लॉकडाउन आखिरी विकल्प

कठिन फैसला लेने वाले हालात, महाराष्ट्र में लॉकडाउन आखिरी विकल्प

सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि कोरोना की चेन तोड़ने के लिए लॉकडाउन जरूरी है और कोई विकल्प नहीं बचा। टीका लगाने के बाद भी लोग संक्रमित हो रहें हैं।

कठिन फैसला लेने वाले हालात, महाराष्ट्र में लॉकडाउन आखिरी विकल्प
X

उदय सर्वोदय

मुंबई : पूरा देश कोरोना की दूसरी लहर से जूझ रहा है। महाराष्ट्र में हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। आम जान के साथ साथ सेलेब्स भी कोरोना की चपेट में आ रहे हैं । सूत्रों के मुताबिक, महाराष्ट्र में कोरोना की चेन तोड़ने के लिए 8 दिन या फिर 15 दिनों का सख्त लॉकडाउन लगाया जा सकता है।

सिर्फ नागपुर में बीते 24 घंटे में यहां कोरोना के 5131 नए मामले सामने आए हैं जबकि 65 लोगों की मौत दर्ज की गई है। महाराष्ट्र में हर दिन 50 हजार से ज्यादा हर रोज नए मामले आने के बाद उद्धव सरकार भी परेशानियों में घिरती नजर आ रही है। शनिवार को सीएम उद्धव ठाकरे ने सर्वदलीय बैठक बुलाई। इस बैठक में कोरोना के खिलाफ सख्त कदम यानी पूर्ण लॉकडाउन लगाने पर चर्चा की गई। चर्चा के दौरान देवेंद्र फडणवीस पूरी तरह लॉकडाउन के सख्त खिलाफ दिखे। उन्होंने लॉकडाउन के अलावा अन्य कोशिशों से कोरोना पर काबू पाने की वकालत की।

सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा है कि अब कठिन फैसला लेने का समय आ गया है क्योंकि कोई और ऑप्शन नहीं बचा। सीएम ने कहा कि लॉकडाउन का वक्त नजदीक आ गया है। कोरोना की चेन तोडना जरुरी हैं। टीका लगाने के बाद भी लोग संक्रमित हो रहें हैं। सीएम ठाकरे ने कहा कि युवा पीढ़ी ज्यादा प्रभावित हो रही है। लॉक डाउन जरूरी नहीं है लेकिन दूसरे देशों ने भी इस चेन को रोकने के लिए इस तरह का निर्णय लिया है इसलिए लॉक डाउन की जरूरत है।

इसके बाद राज्य में विपक्ष की भूमिका निभा रहे देवेंद्र फडणवीस ने लॉकडाउन का विरोध किया। फडणवीस ने कहा कि हमें निमंत्रित करने के लिए धन्यवाद। कोरोना बढ़ रहा हैं इसमें दो राय नहीं है। इसको रोकने के लिए RTPCR टेस्ट रिजल्ट जल्द से जल्द दें। प्राइवेट अस्पतालों में रेमेडिसिवीर नही मिल रहा है , ऑक्सीजन की कमी है, रेमिडीसीवीर जल्द से जल्द देना चाहिए। इन सब बातों पर गौर करना चाहिए।

Updated : 11 April 2021 3:46 PM GMT
Tags:    

Shivani

Magazine | Portal | Channel


Next Story
Share it
Top