Top
Home > राज्यवार > श्रीनगर में ड्रोन पर पाबंदी

श्रीनगर में ड्रोन पर पाबंदी

जम्मू में एक वायु सैनिक अड्डे पर ड्रोन से हमला किये जाने के एक हफ्ते बाद श्रीनगर में अधिकारियों ने रविवार को शहर में ऐसे मानव रहित विमानों की बिक्री, रखने और इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया है।

श्रीनगर में ड्रोन पर पाबंदी
X

एजेंसी

श्रीनगर: जम्मू में एक वायु सैनिक अड्डे पर ड्रोन से हमला किये जाने के एक हफ्ते बाद श्रीनगर में अधिकारियों ने रविवार को शहर में ऐसे मानव रहित विमानों की बिक्री, रखने और इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया है।

इससे पहले, जम्मू क्षेत्र के सीमावर्ती राजौरी और कठुआ जिलों में पिछले रविवार को हुए आतंकी हमले के मद्देनजर ड्रोन और अन्य मानवरहित विमानों के इस्तेमाल पर पाबंदी लगा दी गई थी।

जम्मू हवाई अड्डे पर भारतीय वायुसेना के ठिकानों को विस्फोटक से लदे दो ड्रोन से निशाना बनाया गया था और अन्य संदिग्ध मानव रहित विमान भी देखे गए, जिसके बाद सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट हैं।

श्रीनगर के उपायुक्त मोहम्मद एजाज ने एक आदेश में निर्देश दिया कि जिन लोगों के पास ड्रोन कैमरा या उस तरह के मानव रहित विमान हैं, वे उसे स्थानीय पुलिस थानों में जमा कराएं।

इस आदेश में हालांकि मानचित्र, सर्वेक्षण और कृषि, पर्यावरण संरक्षण तथा आपदा शमन के क्षेत्र में काम करने वाले सरकारी विभागों को छूट दी गई है, लेकिन उन्हें निर्देश दिया गया है कि इनका इस्तेमाल करने से पहले वे स्थानीय पुलिस थाने को इस बारे में सूचित करें।

प्रशासन ने चेताया कि दिशा-निर्देश के किसी भी तरह के उल्लंघन पर दंडात्मक कार्रवाई होगी और पुलिस से कहा कि वह इन पाबंदियों को समुचित तरीके से क्रियान्वित करे। शहर के पुलिस प्रमुख की अनुशंसा पर ड्रोन के इस्तेमाल को प्रतिबंधित करने का आदेश दिया गया है।

आदेश में कहा गया, "मीडिया और अन्य विश्वसनीय सूत्रों की खबरों के मुताबिक ड्रोन का दुरुपयोग कर सुरक्षा अवसंरचना के लिये खतरा पैदा करने के हाल के प्रकरणों के मद्देनजर विकेंद्रीकृत हवाई क्षेत्र की पहुंच को विनियमित किया जाना है।"

इसमें कहा गया कि महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों और घनी आबादी वाले इलाकों के निकट "हवाई क्षेत्र को सुरक्षित करने" के लिये, यह अनिवार्य है कि सभी सामाजिक व सांस्कृतिक क्षेत्र के जमावड़ों में ड्रोन के इस्तेमाल को रोका जाए, जिससे जीवन या संपत्ति के नुकसान के किसी भी जोखिम को खत्म किया जा सके।

Updated : 4 July 2021 3:44 PM GMT
Tags:    

Shivani

Magazine | Portal | Channel


Next Story
Share it
Top