Top
Home > राज्यवार > तमिलनाडु सरकार ने 12,110 करोड़ का फसली कर्ज किया माफ, 16.13 लाख किसान होंगे लाभान्वित

तमिलनाडु सरकार ने 12,110 करोड़ का फसली कर्ज किया माफ, 16.13 लाख किसान होंगे लाभान्वित

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एडापड्डी के पलानीस्वामी ने शुक्रवार को ऐलान किया कि कोऑपरेटिव बैंकों से लिया जाने वाला फसली ऋण माफ कर दिया जाएगा।

तमिलनाडु सरकार ने 12,110 करोड़ का फसली कर्ज किया माफ, 16.13 लाख किसान होंगे लाभान्वित
X

उदय सर्वोदय

चेन्नई: तमिलनाडु सरकार ने सूबे के किसानों के लिए शुक्रवार को बड़ा ऐलान किया है। सरकार ने राज्य के कोऑपरेटिव बैंक से लिए गए फसली कर्ज, जो 12,110 करोड़ रुपये है, को माफ कर दिया है। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एडापड्डी के पलानीस्वामी ने शुक्रवार को ऐलान किया कि कोऑपरेटिव बैंकों से लिया जाने वाला फसली ऋण माफ कर दिया जाएगा। इससे यहां के करीब 16.13 लाख किसानों को फायदा मिलेगा। उन्होंने कहा कि राज्य में चक्रवाती तूफानों निवार (Nivar), बुरेवी (Burevi) व भारी बारिश के कारण किसानों की स्थिति बदहाल है जिसे देखते हुए यह फैसला किया जा रहा है।

बता दें कि इससे पहले 1 फरवरी को ही किसानों के लिए अन्य योजनाओं का ऐलान किया गया था। तब मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी ने ऐलान किया था कि जनवरी में हुई बारिश के कारण फसलों को हुए नुकसान की भरपाई के लिए तमिलनाडु सरकार राज्यभर में 11.43 लाख किसानों को सहायता के तौर पर 1,116.97 करोड़ रुपये देगी। बताया गया था कि सहायता राशि सीधे किसानों के बैंक खातों में दी जाएगी।

जनवरी में तमिलनाडु में अधिक बारिश होने से फसल को काफी नुकसान पहुंचा। 1 जनवरी से 5 फरवरी के बीच राज्य में सामान्य से कई गुना अधिक बारिश हुई। सबसे अधिक धान की फसल क्षतिग्रस्त हुई है। इस क्षति का मुआयना करने के लिए एक सेंट्रल टीम भी राज्य में भेजी गई है।

पुडुकोट्टाइ जिला प्रशासन द्वारा जारी किए गए प्रेस रिलीज के अनुसार, यहां बारिश के कारण धान, मकई, मूंगफली आदि की फसलों को खासा नुकसान हुआ है वहीं तंजावुर जिले में धान और मूंगफली के अलावा दाल की भी फसल को नुकसान हुआ है। इसी तरह विरुधुननगर जिले में धान, दाल, कपास आदि की फसलों को बारिश के कारण नुकसान हुआ है।

पलानीस्वामी ने कहा था कि इस महीने हुई भारी बारिश के कारण, कुल 6,62,689 हेक्टेयर कृषि फसल और 18,645 हेक्टेयर बागवानी फसल नष्ट हो गई। मुख्यमंत्री ने कहा, 'किसानों की समस्याओं का संज्ञान लेते हुए सरकार ने निवार और बुरेवि चक्रवातों से प्रभावित हुए किसानों को राज्य आपदा राहत कोष के दिशा निर्देशों से ज्यादा सहायता देने की घोषणा की थी।'

Updated : 5 Feb 2021 3:45 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top