बॉलीवुड के ड्रामे से हटकर बनाई गयी है ‘ द स्काई इज पिंक ’

बॉलीवुड के ड्रामे से हटकर बनाई गयी है ‘ द स्काई इज पिंक ’

बॉलीवुड, न्यूज डेस्क | बॉलीवुड की कुछ फिल्मों को इसप्रकार से बनाया जाता है, जो कि एक असल जिन्दगी की एक झलक दिखाती हैं। इनमें किसी भी प्रकार का कोई एक्शन नहीं होता। ना तो इन कहानियों में कोई अति नाटकीय मोड़ होता है और ना ही ज्यादा नाच गाना होता है।  इसी तरह से बॉलीवुड की नै पेशकश ‘ द स्काई इज पिंक ’ को बनाया गया है। ये फिल्म किसी काल्पनिक कहानी पर आधारित ना होकर बल्कि एक सच्ची घटना के ऊपर आधारित है। यह कहानी दिल्ली में रहनी वाले एक चौधरी परिवार के नीरेन और अदिति की है। वो लोग जिन्दगी की ऎसी लड़ाई में लगे थे, जिसे जानकर आप भी हैरान हो जाओगे। इस फिल्म में सभी को जिन्दगी से एक अलग ही संघर्ष करते हुए दिखाया गया है।

दरअसल इस फिल्म में मस्त मौला मस्तीखोर, घर की लाडली टीनएजर आयशा चौधरी बचपन से ही पलमोनरी फाइब्रोसिस से ग्रस्त होती है। सबको पता होता है कि उसके पास समय कम है। लेकिन उसके जीने के तरीके से पता लगता है कि उनकी जिन्दगी लम्बी तो नहीं लेकिन बड़ी बहुत है। इसके बाद आयशा के अंतिम दिन नजदीक आ जाते हैं। उसके जाने के बाद परिवार को बहुत सारे हादसों को झेलना पड़ता है।  डायरेक्टर शोनाली बोस ने इस रियल लाइफ कहानी को जिस तरह से पर्दे पर उकेरा है वह वाकई काबिल-ए-तारीफ़  है। फिल्म मे एक भी फॉल्स मोमेंट का जिक्र नहीं है। हर पल सच्चा और सच्ची जिंदगी से जुड़ा है। अभिनय की बात करें तो प्रियंका चोपड़ा अदिति के किरदार में इस तरह से समा गई थी, मानो वह सचमुच ही अदिति चौधरी ही हो। वहीं निरेन चौधरी के किरदार में फरहान  अख्तर न्याय करते नजर आए। इसके अलावा आयशा चौधरी के किरदार में जायरा वसीम एकदम सटीक नजर आती है।

Uday Sarvodaya Team

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *