Top
Home > प्रमुख ख़बरें > दूसरों को देशद्रोही कहते-कहते खुद ही ‘देशद्रोही’ हो गए भाजपा के ये नेता

दूसरों को देशद्रोही कहते-कहते खुद ही ‘देशद्रोही’ हो गए भाजपा के ये नेता

दूसरों को देशद्रोही कहते-कहते खुद ही ‘देशद्रोही’ हो गए भाजपा के ये नेता
X

पटना (उदय सर्वोदय ब्यूरो) : केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का विवादित बयानों से पुराना नाता रहा है, लेकिन इस बार उनके विवादित बयान में वह खुद ही फंस गए. दरअसल गिरिराज ने तीन मार्च को पटना में हुई एनडीए की संकल्प रैली को लेकर बयान दिया था कि जो पीएम मोदी की रैली में नहीं आएगा वो देशद्रोही होगा, लेकिन रविवार को हुई पीएम मोदी की रैली में वह खुद ही नहीं पहुंच पाए. इसकी सफाई उन्होंने ट्वीट करके दी. अब उनका पुराना बयान और रैली में शामिल न होने का ट्वीट दोनों ही सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं.https://twitter.com/girirajsinghbjp/status/1102132581380829184स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, गिरिराज सिंह ने रैली से पहले बयान दिया था कि तीन मार्च को पटना के गांधी मैदान में होने वाली मोदी की संकल्प रैली में जो नहीं आएगा, वो देशद्रोही होगा. उन्होंने कहा था- इस रैली से यह साबित हो जाएगा कि कौन पाकिस्तान के साथ खड़ा है और कौन हिन्दुस्तान के साथ. बताया जा रहा है कि उन्होंने कहा था कि जो हिन्दुस्तान के साथ होगा, वह पीएम मोदी के साथ खड़े दिखेंगे और जो पाकिस्तान के साथ होंगे, वह रैली में नहीं आएंगे.रिपोर्ट्स में साथ ही यह भी बताया गया है कि गिरिराज सिंह के इस बयान को लेकर जदयू ने आपत्ति जताई थी. इसके अलावा कांग्रेस और राजद ने भी भाजपा पर निशाना साधा था.बता दें कि पीएम मोदी ने रविवार को पटना में संकल्प रैली को संबोधित करते हुए कहा था, में अगर ‘महामिलावट' वाली सरकार रहती, तो न फैसले होते और न ही गरीबों का कल्याण होता. इन लोगों की प्रवृत्ति अपना विकास करने की है. देश का विकास करने की नहीं है.पीएम ने कहा था कि ‘महामिलावट' के घटक सिर्फ अपने स्वार्थ के लिए जीते हैं. उन्हें देश की कोई परवाह नहीं है और न वे देश की परवाह करते हैं. यही सीख हमें उनके इतिहास और वर्तमान से मिली है. जब हमारे देश की सेना आतंकवाद को कुचलने में जुटी है, सीमा के भीतर हो या सीमा के पार आतंक के ठिकानों पर प्रहार करने में लगी है.

Updated : 4 March 2019 9:04 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top