Home > राज्यवार > उत्तर प्रदेश > यूपी में महिलाओं के लिए दिसंबर से चलेगी ‘रानी लक्ष्मीबाई’ स्पेशल बस

यूपी में महिलाओं के लिए दिसंबर से चलेगी ‘रानी लक्ष्मीबाई’ स्पेशल बस

यूपी में महिलाओं के लिए दिसंबर से चलेगी ‘रानी लक्ष्मीबाई’ स्पेशल बस
X

उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के बेड़े में ‘पिंक एक्सप्रेस’ की तर्ज पर दिसंबर से 50 ‘रानी लक्ष्मीबाई’ महिला स्पेशल बसें शामिल होने जा रही हैं। इनसे महिलाएं लखनऊ सहित आठ महानगरों से सफर कर पाएंगी। 32 सीटर बस में 232 यानी दोनों तरफ दो-दो सीटें होंगी। इससे सफर आरामदायक होगा। खास यह कि इस वातानुकूलित बस का किराया वॉल्वो और स्कैनिया से कम है। यात्री को इस बस में 1.42 रुपये प्रति किलोमीटर की दर से किराया और किराये का 7 फीसदी सेस व 5 फीसदी जीएसटी चुकाना होगा। उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक पी. गुरु प्रसाद ने बताया कि निर्भया फंड से महिलाओं को सुरक्षित सफर कराने के लिए 50 एसी बसें टाटा मोटर से खरीदी गई हैं। दिसंबर से इन बसों के आने का सिलसिला शुरू हो जाएगा।

बीजिंग में 20 साल बाद पहली बार घटी जनसंख्या

मुख्य प्रधान प्रबंधक (संचालन) एचएस गाबा ने बताया कि बस के ‘रानी लक्ष्मीबाई’ के नाम पर स्वीकृति अभी बाकी है। परिवहन निगम को इन बसों को खरीदने एवं सुरक्षा तंत्र के लिए केंद्र सरकार ने निर्भया फंड से 40 करोड़ रुपये मुहैया कराए हैं, जबकि 43.40 करोड़ रुपये की रकम लंबित है। लखनऊ से महिलाएं गोरखपुर, वाराणसी, प्रयागराज, हरिद्वार, झांसी, हल्द्वानी के लिए सुरक्षित सफर कर पाएंगी। इन बसों के ड्राइवर एवं कंडक्टर को सुरक्षा मुहैया कराने के लिए पुलिस के द्वारा स्पेशल ट्रेनिंग भी दी जाएगी। लखनऊ परिक्षेत्र के क्षेत्रीय प्रबंधक पीके बोस ने बताया कि महिला स्पेशल बस में पुरुष बिना महिला के सफर नहीं कर पाएंगे। यानी पहला टिकट महिला के नाम से ही बनेगा। इसके बाद महिला के साथ में पिता, पति, भाई, बेटे को सफर की अनुमति मिलेगी। लखनऊ से संचालित होने वाली महिला स्पेशल बस में चालक एवं परिचालक महिलाएं ही होंगी। परिवहन निगम के मुख्य प्रधान प्रबंधक (प्रावैधिक) ने बताया कि बस में परिचालक बनने के लिए महिलाएं तो बहुत हैं, लेकिन चालक आसानी से नहीं मिल रहीं। पहले दौर में 20 महिला चालकों की सूची का प्रशिक्षण चल रहा है।

केजरीवाल सोमनाथ भारती को तुरंत पार्टी से बर्खास्त करें- शर्मिष्ठा मुखर्जी

इन बसों का सुरक्षा तंत्र से सीधा कनेक्शन होगा। इसमें डायल-100, परिवहन निगम कंट्रोल रूम एवं महिला इंटरसेप्टर वाहन शामिल हैं। पैनिक बटन के दबते ही पुलिस, परिवहन एवं इंटरसेप्टर वाहन पर सूचना का एलर्ट पहुंचेगा। इसके बाद यात्रियों की सुरक्षा का कार्य शुरू हो जाएगा। बस में खुफिया कैमरे से निगरानी, ड्राइवर, यात्रियों की सीट पर पैनिक बटन, डीबीआर से सफर की पूरी रिकॉडिंग, महिला इंटरसेप्टर वाहन सुरक्षा करेंगे।आलमबाग लखनऊ से दिल्ली तक 985 रुपये किराया होगा। आलमबाग लखनऊ से आगरा तक 601 रुपये किराया होगा। आलमबाग लखनऊ से गोरखपुर तक 510 रुपये किराया होगा। आलमबाग लखनऊ से प्रयागराज तक 33 रुपये किराया होगा। इन बसों के लिए 50 महिला स्पेशल एसी बसों के लिए 22.50 करोड़ रुपये, 12,500 बस में कैमरे, पैनिक बटन के लिए 47.50 करोड़ रुपये, 24 इंटरसेप्टर के लिए 08.40 करोड़ निर्भया फंड से लिया जाएगा। वहीं ये बसें गाजियाबाद को 10, आगरा को 10, लखनऊ को 8, बरेली को 6, गोरखपुर, कानपुर , प्रयागराज और वाराणसी को 4-4 बसें मिलेंगी।

Updated : 23 Nov 2018 8:02 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top