Top
Home > राज्यवार > उत्तर प्रदेश > मायावती ने केंद्र और राज्य सरकारों से कहा- पेट्रोल और डीजल पर टैक्स कम कीजिए

मायावती ने केंद्र और राज्य सरकारों से कहा- पेट्रोल और डीजल पर टैक्स कम कीजिए

पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर पूरे देश में हाहाकार है। जगह-जगह विरोध- प्रदर्शन हो रहे हैं।

मायावती ने केंद्र और राज्य सरकारों से कहा- पेट्रोल और डीजल पर टैक्स कम कीजिए
X

उदय सर्वोदय

लखनऊ: पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर पूरे देश में हाहाकार है। जगह-जगह विरोध- प्रदर्शन हो रहे हैं। इस बीच बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने केंद्र और राज्य सरकारों से पेट्रोल और डीजल पर कर कम करने की आज मांग की और कहा कि इससे गरीब और मध्यम वर्ग को राहत मिलेगी।

मायावती ने मंगलवार को पेट्रोल ,डीजल के करों में वृद्धि को रोकने के लिये दो ट्वीट किये। उन्होंने कहा कि देश में पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस जैसी जरूरी वस्तुओं की कीमतों के अनावश्यक ही अनवरत वृद्धि करके कोरोना प्रकोप बेरोजगारी और महंगाई से त्रस्त जनता को सताना सर्वथा अनुचित है। इस जानलेवा कर वृद्धि से जन कल्याण के लिये धन जुटाये जाने का सरकार का तर्क कतई उचित नहीं है।

बसपा प्रमुख ने कहा कि पेट्रोल और डीजल पर केंद्र और राज्य सरकारें लगातार कर में लगातार मनमानी वृद्धि कर जनता पर जो भारी बोझ हर दिन डाल रही हैं उसे तत्काल रोका जाना चाहिये। वास्तव में यही सरकार का देश की करोड़ों मेहनतकश जनता पर बड़ा एहसान व जनकल्याणकारी होगा।

वहीं भारत की कम्युनिस्ट पार्टी भाकपा (माले) योगी सरकार के नौजवान-किसान-गरीब-विरोधी बजट, पेट्रोल-डीजल-गैस की बेतहाशा मूल्यवृद्धि और कमरतोड़ महंगाई के खिलाफ 23-24 फरवरी को राज्यव्यापी प्रतिवाद करेगी।

माले के राज्य सचिव सुधाकर यादव ने कहा कि माले कार्यकर्ताओं का प्रतिवाद आज से शुरू हो गया है। कार्यकर्ता जिलों में धरना-प्रदर्शन व मार्च निकालकर बजट दहन करेंगे और तेल-गैस के दाम घटाने व महंगाई पर रोक लगाने की मांग को लेकर अधिकारियों को ज्ञापन सौपेंगे।

Updated : 23 Feb 2021 9:26 AM GMT
Tags:    

Uday Sarvodaya

Magazine | Portal | Channel


Next Story
Share it
Top