Home > राज्यवार > उत्तर प्रदेश > ‘कहीं पुलिस ने निर्दोष लोगों को ठोंका, तो कहीं जनता ने पुलिस को ठोक दिया’

‘कहीं पुलिस ने निर्दोष लोगों को ठोंका, तो कहीं जनता ने पुलिस को ठोक दिया’

‘कहीं पुलिस ने निर्दोष लोगों को ठोंका, तो कहीं जनता ने पुलिस को ठोक दिया’
X

लखनऊ (ब्यूरो रिपोर्ट) : योगी सरकार में बढ़ते अपराध को लेकर समाजवादी पार्टी ने उस पर हमला बोला है, और कहा कि यह सरकार अपराध नियंत्रण के मामलों में अपने आंकड़ों से खुद मात खाती नज़र आती है. पार्टी द्वारा जारी किए आंकड़ों के अनुसार, 16 मार्च 2018 से 30 जून 2018 तक केवल तीन महीनों में शीलभंग के 17,249, अपहरण के 21077, बलात्कार के 5,600 और बच्चियों से सम्बन्धित अपराध पास्कोकेस 7,018 दर्ज हुए.इस मामले में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी ने कहा, ‘मुख्यमंत्री योगी ने पदग्रहण के बाद बड़े जोरशोर से दावा किया था कि अब अपराधी या तो जेल जाएंगे या प्रदेश छोड़ जाएंगे. उनका ठोक दो वाला बयान भी खूब चर्चित रहा था. इस पर पुलिस ने कई निर्दोष लोगों को ठोक दिया, तो कई जगह जनता ने पुलिस को ठोक दिया.’राजेन्द्र चौधरी ने कहा कि भाजपा सरकार की दिक्कत यह है कि उसके पास अपनी कोई योजना नहीं है. उन्होंने आगे कहा कि अखिलेश यादव सरकार में जो व्यवस्थाएं बनाई गई थी, उन्हें भी बर्बाद कर दिया गया. घटना स्थल पर बिना विलम्ब पुलिस पहुंचे इसके लिए अंतर्राष्ट्रीय स्तर की यूपी डायल 100 योजना थी. महिला उत्पीड़न रोकने के लिए 1090 की व्यवस्था लागू थी. भाजपा की उपेक्षा से ये सभी प्रभावी योजनाएं निष्प्रभावी हो गई और अपराधियों के हौंसले बढ़ते चले गए.राजेन्द्र चौधरी ने दावा किया कि भाजपा ने जनता को सिर्फ परेशानियों की ही सौगातें दी हैं. लोग दहशत में जी रहे हैं.समाज का हर वर्ग असंतोष और आक्रोश में सुलग रहा है. अखिलेश यादव ने जनहित की कई योजनाएं लागू कर किसान, नौजवान, महिला, व्यापारी, शिक्षक, अधिवक्ता सभी को लाभान्वित किया था. भाजपा ने नोटबंदी-जीएसटी लागू कर घरेलू अर्थव्यवस्था के साथ व्यापार जगत को भी चौपट कर दिया. त्रस्त जनता ने इसलिए मन बना लिया है कि वह 2019 में नई सरकार और नये प्रधानमंत्री का चुनाव करके ही रहेगी.

Updated : 4 Feb 2019 12:44 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top